UPSC Syllabus in Hindi | IAS Exam Pattern 2021

IAS Syllabus in Hindi (upsc syllabus in hindi) : UPSC IAS देेश की सबसे बड़ी प्रतिष्ठित परीक्षा होता है, इसके लिए हर साल लाखों उम्मीदवार परीक्षा में सम्मलित होते हैं, तथा लाखो छात्र दिन-रात तैयारी में लगे है की वे परीक्षा निकाल लें।

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की भर्ती परीक्षा में प्रत्येक वर्ष लगभग 13 से 15 लाख उम्मीदवार आवेदन पत्र भरते हैं। Union Public Servise Commision द्वारा आयोजित भारतीय प्रशासनिक सेवा भर्ती परीक्षा का संपूर्ण पाठ्यक्रम नीचे क्रमबद्ध तरीके से दिया गया है।  आज आप IAS Exam Pattern और आईएएस सिलेबस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में प्राप्त करेंगे। IAS का पूरा नाम Indian Administrative Services होता है।

IAS की परीक्षा का आयोजन UPSC कराती है और लगभग 10 लाख परीक्षार्थी हर साल इसमें भाग लेते हैं। IAS की परीक्षा भारत की सबसे कठिन और प्रसिद्ध परीक्षाओं में से एक है।

Table of Contents

IAS Syllabus In Hindi

UPSC Syllabus in Hindi | IAS Exam Pattern 2021
UPSC Syllabus in Hindi | IAS Exam Pattern 2021

इसमें आपको UPSC Syllabus in Hindi  से संबंधित संपूर्ण जानकारी दी जा रही है। यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा प्रत्येक वर्ष भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी के पद पर भर्ती परीक्षा आयोजित की जाती है। यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की भर्ती परीक्षा में प्रत्येक वर्ष लगभग 13 से 15 लाख उम्मीदवार आवेदन पत्र भरते हैं।

यदि आप UPSC की तैयारी कर रहे हैं तो आपको प्रतियोगियों की संख्या देखकर घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि कुछ ही अभ्यर्थी इस परीक्षा को लेकर सीरियस और योग्य होते हैं, कुछ अभ्यर्थी तो बस UPSC के द्वारा मिलने वाले 8-10 अटेम्प्ट का लाभ उठाना चाहते हैं।

इसलिए घबराने की कोई जरूरत नहीं है बस upsc syllabus in hindi को कण्ठस्थ करने की जरूरत है। इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि अब आप निश्चिंत हो जाएं, क्योंकि बिना कठिन तपस्या के कुछ भी हासिल नहीं होता है। इस लेख के जरिए हम आपको UPSC IAS Syllabus in Hindi और इसके परीक्षा पैटर्न की संक्षिप्त जानकारी देंगे।

UPSC IAS Syllabus and Exam Pattern in Hindi

UPSC की परीक्षा तीन चरणों मे सम्पन्न होती है, पहले चरण की परीक्षा को प्रिलिम्स (बहुविकल्पीय), दूसरे चरण को मेन्स ( वर्णनात्मक – Descriptive) और अंतिम चरण इंटरव्यू होता है।

  • प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

UPSC Prelims Exam Syllabus in Hindi

इसके अंतर्गत 2 परीक्षा होती है। जिसमें पहली परीक्षा सामान्य अध्ययन (General Studies) एवं दूसरी परीक्षा सीसैट (CSAT) होती है।

Mains तक पहुँचन्न के लिए Prelims की इन दोनों परीक्षाओं को पास करना जरूरी होता है। सामान्य अध्ययन की परीक्षा को पास करने के लिए मेरिट बनती है जबकि सीसैट में 33% अंक प्राप्त करना जरूरी होता है। दोनों परीक्षाओं में नेगेटिव मार्किंग होती है और गलत उत्तर देने पर ⅓ नम्बर काट लिया जाता है।

पेपरप्रकारप्रश्नों की संख्याअंकसमय
सामान्य अध्ययनवस्तुनिष्ठ1002002 घण्टा
CSATवस्तुनिष्ठ802002 घण्टा

UPSC General Studies – I Exam Pattern

इस परीक्षा के अंतर्गत सामान्य अध्ययन (भारतीय राज्यव्यवस्था, भूगोल, इतिहास, भारतीय अर्थव्यवस्था, विज्ञान एवं प्राद्यौगिकी, पर्यावरण एवं पारिस्थितिकि, अंतराष्ट्रीय सम्बन्ध और करेंट अफेयर्स के प्रश्न पूछे जाते हैं।

No. of questions100
Total Marks200
Time2 Hrs.
Negative marksYes (One Third)
Paper TypeObjective Type

UPSC CSAT – II Exam Pattern

इसमें तर्क और विश्लेषणात्मक, पढ़ने की समझ, निर्णय लेने इत्यादि तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।

कुल प्रश्न 80
 कुल अंक 200
 समय 2 Hrs.
नकारात्मक अंकYes (One Third)
प्रश्न पत्र का प्रकार Objective Type

UPSC IAS Mains Exam Pattern and Syllabus

UPSC Syllabus In Hindi – प्रीलिम्स को सफलता पूर्वक पास करने बाद Mains की परीक्षा देनी होती है जो वर्णनात्मक (Descriptive) होती है। इसमें मुख्यतः 9 पेपर होते हैं और मेरिट बनाते समय केवल 7 पेपर को सम्मिलित किया जाता है। 2 पेपर भाषा (300 पूर्णांक में 2 पेपर, इसे क्वालीफाई करने के लिए कम से कम 25% अंक प्राप्त करना जरूरी होता है) और बाकी 7 पेपर जनरल स्टडीज और निबन्ध होता है।

पेपरविषयअवधिअंक
पेपर Aकोई भी मान्य भारतीय भाषा3 घण्टे300
पेपर Bअंग्रेजी3 घण्टे300
पेपर Iनिबन्ध3 घण्टे250
पेपर IIसामान्य अध्ययन I3 घण्टे250
पेपर IIIसामान्य अध्ययन II3 घण्टे250
पेपर IVसामान्य अध्ययन III3 घण्टे250
पेपर Vसामान्य अध्ययन IV3 घण्टे250
पेपर VIवैकल्पिक I3 घण्टे250
पेपर VIIवैकल्पिक II3 घण्टे250

अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम राज्यों के उम्मीदवारों के लिए पेपर A अनिवार्य नहीं है। और इसके साथ ही कोई उम्मीदवार यह साबित कर सकें कि उन्हें बोर्ड या विश्वविद्यालय द्वारा वैकल्पिक भाषा या दूसरी/तीसरी भाषा अनिवार्य नहीं कि गयी थी।

भारतीय भाषा का पेपर संविधान की 8 वीं अनुसूची में शामिल किसी भी भाषा का चुनाव कर सकते हैं।

विषयसिलेबस
सामान्य अध्ययन Iभारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व का इतिहास और भूगोल
सामान्य अध्ययन IIशासन, संविधान, सामाजिक न्याय, राजनीति, अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध
सामान्य अध्ययन IIIप्रद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विभिन्नता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन
सामान्य अध्ययन IVईमानदारी, आचार-विचार, कौशल

UPSC Syllabus in Hindi: मुख्य परीक्षा 

  •  मुख्य परीक्षा का उद्देश्य केवल उनकी जानकारी और स्मृति की सीमा के बजाय समग्र बौद्धिक लक्षणों और उम्मीदवारों की समझ की गहराई का आकलन करना है।
  • सामान्य अध्ययन के प्रश्नपत्र (पेपर II से पेपर V) में प्रश्नों की प्रकृति और मानक ऐसे होंगे कि एक अच्छी तरह से शिक्षित व्यक्ति बिना किसी विशेष अध्ययन के उनका उत्तर दे सकेगा। परीक्षा के लिए वैकल्पिक विषय के पेपर (पेपर VI और पेपर VII) के सिलेबस का दायरा मोटे तौर पर ऑनर्स डिग्री स्तर का है।
  • भारतीय भाषाओं (पेपर ए) और अंग्रेजी (पेपर बी) पर आधारित प्रश्नपत्र : पेपर का उद्देश्य उम्मीदवार की गंभीर गद्य पढ़ने और समझने की क्षमता का परीक्षण करना है, और संबंधित अंग्रेजी और भारतीय भाषा में अपने विचारों को स्पष्ट और सही ढंग से व्यक्त करना है। 

Paper A: अनिवार्य भारतीय भाषा

UPSC Syllabus in Hindi की परीक्षा में सफल होने के लिए निम्नलिखित बिंदु की समझ अति आवश्यक है।

  • दिए गए मार्ग(passages ) की समझ।
  • सटीक लेखन।
  • उपयोग और शब्दावली।
  • लघु निबंध।
  • अंग्रेजी से भारतीय भाषा में अनुवाद और इसके विपरीत भारतीय भाषा से अंग्रेजी भाषा में अनुवाद

Paper B: अंग्रेजी 

UPSC Syllabus in Hindi की परीक्षा में सफल होने के लिए निम्नलिखित बिंदु की समझ अति आवश्यक है।

  • दिए गए मार्ग की समझ। (Comprehension of given passages)
  • सटीक लेखन।
  • उपयोग और शब्दावली।
  • लघु निबंध।

Paper I : निबंध

UPSC Syllabus in Hindi के अनुसार उम्मीदवारों को कई विषयों पर निबंध लिखने पड़ सकते हैं इसलिए उम्मीदवारों को निबंध लेखन की अच्छी समझ होनी आवश्यक है।

Paper 2 : सामान्य अध्ययन II

UPSC Syllabus in Hindi के सामान्य अध्ययन- I: में भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल आदि के बारे में पूछा जाता है।

  • भारतीय विरासत
  • आधुनिक भारतीय इतिहास
  • विश्व इतिहास
  • भारतीय समाज
  • भूगोल

Paper 3: सामान्य अध्ययन- II

UPSC Syllabus in Hindi के सामान्य अध्ययन- II विषय में शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

  • भारतीय संविधान
  • भारतीय राजव्यवस्था
  • सामाजिक न्याय
  • भारतीय शासन
  • अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध

Paper 4: सामान्य अध्ययन– III

UPSC Syllabus in Hindi के सामान्य अध्ययन– III में प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन बारे में पूछा जाता है।

  • भारतीय अर्थव्यवस्था
  • विज्ञान और तकनीक
  • पर्यावरण और जैव विविधता
  • आपदा प्रबंधन
  • आपदा प्रबंधन
  • सुरक्षा

Paper 5 : सामान्य अध्ययन– IV: नैतिकता, अखंडता और योग्यता

  • नैतिकता और मानव इंटर फ़ेस
  • मनोवृत्ति
  • योग्यता
  • भावनात्मक बुद्धि
  • सार्वजनिक / सिविल सेवा मूल्य और लोक प्रशासन में नैतिकता
  • शासन में संभावना

Paper 6 & 7: वैकल्पिक विषय पेपर I और II उम्मीदवार कोई भी वैकल्पिक विषय चुन सकते हैं।

UPSC Syllabus in Hindi में निम्नलिखित दिए गए विषयों में से कोई भी वैकल्पिक विषय चुन सकते हैं इसकी सूची नीचे दी गई है:

  • कृषि विज्ञान
  • पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान
  • मनुष्य जाति का विज्ञान
  • वनस्पति विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • असैनिक अभियंत्रण
  • वाणिज्य और लेखा
  • अर्थशास्त्र
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • भूगोल
  • भूगर्भशास्त्र
  • इतिहास
  • कानून
  • असमिया
  • बंगाली
  • डोगरी
  • अंग्रेज़ी
  • गुजराती
  • हिंदी
  • कन्नड़
  • कश्मीरी
  • कोंकणी
  • मैथिली
  • मलयालम
  • मणिपुरी
  • मराठी
  • नेपाली
  • Odia
  • पंजाबी
  • संस्कृत
  • संथाली
  • सिंधी
  • तामिल
  • तेलुगू
  • उर्दू
  • गणित
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • चिकित्सा विज्ञान
  • दर्शन
  • भौतिक विज्ञान
  • राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय
  • मनोविज्ञान
  • सार्वजनिक प्रशासन
  • नागरिक सास्त्र
  • आंकड़े
  • प्राणि विज्ञान

UPSC Syllabus in Hindi का अध्ययन कर लेने के बाद आपको यह जानना आवश्यक है की यूपीएससी आयोग द्वारा सेवा में परीक्षा का आयोजन किया जाता है इससे संबंधित जानकारी नीचे दी गई है। यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) प्रत्येक वर्ष निम्नलिखित सेवाओं में अधिकारियों के चयन हेतु भर्ती परीक्षा का आयोजन करता है। यह सेवाएं इस प्रकार हैं-

  •  अखिल भारतीय सेवाएं
  •  समूह  ए सेवाएं
  •  समूह बी सेवाएं 

इन सेवाओं के अंतर्गत आने वाले विभाग इस प्रकार हैं-

  • अखिल भारतीय सेवाएं
  • भारतीय प्रशासनिक सेवा ( आईएएस अधिकारी)
  • भारतीय पुलिस सेवा ( आईपीएस अधिकारी)
  • भारतीय वन सेवा ( आई एफ एस अधिकारी)

पर्सनल इंटरव्यू ( पूर्णांक- 275 अंक)

जो अभ्यर्थी मेन्स परीक्षा को क्वालीफाई करते हैं उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, जिन्हें UPSC बोर्ड के वरिष्ठ चयनकर्ताओं के सवालों के जवाब देने होते हैं।फाइनल मेरिट और रैंक Mains + इंटरव्यू (1750+285= 2025) के अंकों को जोड़कर बनाई जाती है।

UPSC को लेकर पूछे जाने वाले प्रश्न

यूपीएससी का सिलेबस क्या होता है?

यूपीएससी में मुख्यतः 9 पेपर होते हैं और मेरिट बनाते समय केवल 7 पेपर को सम्मिलित किया जाता है। 2 पेपर भाषा (300 पूर्णांक में 2 पेपर, इसे क्वालीफाई करने के लिए कम से कम 25% अंक प्राप्त करना जरूरी होता है) और बाकी 7 पेपर जनरल स्टडीज और निबन्ध होता है।

आईपीएस की तैयारी कैसे शुरू करें?

सबसे पहले IAS प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी करें। आपको लिखित परीक्षा के ऑब्जेक्टिव पैटर्न और उसकी जटिलताओं की जानकारी होनी चाहिए। IAS मेंस, प्रारंभिक परीक्षा से भिन्न होती है। सब्जेक्टिव पैटर्न के लिए विषय की गहरी समझ होना आवश्यक होता है।

UPSC में कितने नंबर से पास होते हैं?

ये दोनों पेपर 300-300 अंकों के होते हैं. मेरिट के 7 पेपर होते हैं. ये सभी पेपर्स 250-250 अंकों के होते हैं. यानी मेरिट पेपर कुल 1750 नंबरों का होता है

क्या IAS बनना आसान है?

बिल्कुल नहीं, क्योंकि यह देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है, या फिर ये कहें कि यह देश की सबसे कठिन परीक्षा है तो ज्यादा बेहतर होगा।

IAS बनने के लिए कितने साल की तैयारी पर्याप्त होगी?

वैसे तो इस परीक्षा के लिए आपको बहुत ही पहले से तैयार होना होगा लेकिन गंभीर रूप से कॉलेज के प्रथम वर्ष में एडमिशन लेने के बाद IAS की परीक्षा की तैयारी में जुट जाना चाहिए।

IAS की सैलरी कितनी होती है?

AS की शुरुआती सैलरी 56,100 से शुरू होती है, जिसमें यात्रा भत्ता, महंगाई भत्ता, किराया भत्ता इत्यादि अलग से जोड़ा जाता है।

आशा है आपको हमारे द्वारा UPSC Syllabus In Hindi (IAS Syllabus In Hindi) से जुड़ी जानकारी पसंद आई होगी। ज्यादा जानकारियों के लिए आधिकारिक सिलेबस पढ़ें और ऐसी ही जानकारियों के लिए MyExamNews को फॉलो करें।

Leave a Comment